Vivaah Shubh Muhurat 2022: जाने विवाह करने के सबसे ( शुभ मुहूर्त ) शुभ दिन

मिथिला: इस बीच होलाष्टक (होलाष्टक 2022) होगा और उसके बाद सूर्य की मीन राशि शुरू होगी। अगला विवाह मुहूर्त (विवाह मुहूर्त 2022) 15 अप्रैल के बाद ही शुरू होगा। पाल बालाजी ज्योतिष संस्थान, जयपुर, जोधपुर के निदेशक ज्योतिषाचार्य डॉ. अनीश व्यास ने बताया कि बृहस्पति 22 फरवरी को अस्त होगा।

Vivaah Shubh Muhurat 2022
Vivaah Shubh Muhurat 2022 Vivaah Shubh new list 2022


22 फरवरी से 24 मार्च के बीच देव गुरु बृहस्पति अष्ट रहेंगे,
देव गुरु बृहस्पति के अस्त होने को सामान्य बोलचाल की भाषा में
(गांव घर की भाषा में) तारा लगना भी कहते हैं ,
तारा लगने पर शादी विवाह
( मैरिज डेट्स 2022) जैसे कार्य वर्जित रहते हैं (मतलब बंद रहता है) इसी बीच होलाष्टक लग जाएंगे और उसके बाद सूर्य के मीन मलमास शुरू हो जाएंगे,       

मई – 02, 03, 09, 10, 11, 12, 15, 17, 18, 19, 20, 21, 26, 27, 31


अगला विवाह शुभ मुहूर्त 15 अप्रैल बाद ही शुरू होगा,

ज्योतिष संस्थान मिथिला के निदेशक द्वारा बताया गया है कि 22 फरवरी को देव गुरु बृहस्पति अस्त हो जाएंगे .
इस बार शादियों( शुभ मुहूर्त 2022) के लिए ,
मई और जून में सबसे ज्यादा शुभ मुहूर्त होंगे,
2022 में अक्षय तृतीया और देव उठनी मुहूर्त को मिलाकर विवाह के लिए कुल 52 दिन शुभ रहेंगे,
इसके बाद करीब डेढ़ माह के लिए सभी शुभ कार्य बंद रहेंगे
विवाह और गृह प्रवेश मुंडन नामकरण ज उपनयन सहित अन्य मांगलिक कार्यों पर विराम लग जाएंगे,
क्योंकि 22 फरवरी से गुरु अस्त हो जाएंगे ,
देव गुरु बृहस्पति को शादी समेत किसी भी मांगलिक कार्य का कारक माना जाता है,
इन कार्यों को शुभ संपन्न कराने के लिए बृहस्पति का उदय होना बहुत जरूरी है,
वैदिक ज्योतिष में गुरु को शुभ फलदाई ग्रह माना जाता है कुंडली में गुरु ग्रह की स्थिति शुरू होने पर व्यक्ति को हर क्षेत्र में सफलता हासिल होती है देव गुरु बृहस्पति के अस्त होने को सामान्य बोलचाल की भाषा में तारा लगना कहते हैं, तारा लगने पर शादी विवाह (Marriage dates in 2022) 15 अप्रैल बाद ही शुरू होगा,
Vivaah Shubh Muhurat 2022
Vivaah Shubh Muhurat 2022

24 मार्च तक अस्त रहेंगे बृहस्पति


देव गुरु बृहस्पति 22 फरवरी से 24 मार्च के बीच अस्त रहेंगे,
एक माह में कोई शुभ कार्य नहीं होगा, होलाष्टक लग जाएंगे और उसके बाद सूर्य के मीन मलमास शुरू हो जाएंगे,
इस तरह 15 अप्रैल तक सभी शुभ कार्यों पर रोक रहेगी
सिर्फ 4 मार्च को फुलेरा दूज होने की वजह से आप उस दिन कोई भी शुभ कार्य कर सकते हैं,

Vivaah Shubh new list 2022

फुलेरा दूज
फुलेरा दूज को अबूझ मुहूर्त माना जाता है,
इस दिन आप कोई भी मांगलिक कार्य बगैर किसी ज्योतिष से परामर्श लिए भी कर सकते हैं,
गुरु अस्त होने से मार्च में शुभ मुहूर्त नहीं
Vivaah Shubh Muhurat 2022
Vivaah Shubh Muhurat 2022

22 फरवरी को गुरु अस्त हो जाने के बाद ,17 अप्रैल से शादियों का सीजन शुरू होगा ,जो कि 8 जुलाई तक रहेगा,
फिर 10 जुलाई को देवशयन होने से चतूर्मास शुरू हो जाएगा और 20 नवंबर तक शादियों के लिए मुहूर्त नहीं रहेंगे इसके बाद 21 नवंबर से 14 दिसंबर तक सिर्फ 9 ही विवाह मुहूर्त होंगे Vivaah Shubh new list 2022

 

शुक्र – गुरु ग्रह के अस्त होने पर विवाह नहीं होते,


विवाह मुहूर्त की गणना करते समय शुक्रतारा गुरु तारा पर विचार किया जाता है! बृहस्पति और शुक्र के अस्त होने पर विवाह और अन्य मांगलिक कार्यक्रम नहीं किए जाते हैं! इसलिए इस दौरान कोई विवाह समारोह नहीं किया जाता है

सबसे ज्यादा विवाह मुहूर्त मई और जून में है

Vivaah Shubh Muhurat 2022
Vivaah Shubh Muhurat 2022


इस साल अप्रैल में 10 दिन शुभ मुहूर्त शादियों के लिए है वही सबसे ज्यादा विवाह मुहूर्त मई में 15 और जून में 12 दिन रहेंगे
इसके बाद जुलाई में 5 दिन और नवंबर में 4 दिन और दिसंबर में 7 दिन विवाह मुहूर्त रहेंगे
शुभ विवाह मुहूर्त 2022 https://zeenews.india.com
अप्रैल – 15, 16, 17, 19, 20, 21, 22, 23, 24, 27

मई – 02, 03, 09, 10, 11, 12, 15, 17, 18, 19, 20, 21, 26, 27, 31

जून – 01, 05, 06, 07, 08, 09, 10, 11, 13, 17, 23, 24

जुलाई – 04, 06, 07, 08, 09

नवंबर – 25, 26, 28, 29

दिसंबर – 01, 02, 04, 07, 08, 09, 14

(कुछ पंचांग मैं अंतर होने के कारण तिथि घट बढ़ सकती है और परिवर्तन हो सकता है

Leave a Comment